Asthma Kya Hai poori jaankari – अस्थमा की जानकारी

Asthma Kya Hai – आज किस पोस्ट के द्वारा मैं आपको अस्थमा ( Asthma) के बारे में जानकारी देने वाला हूं। इसमें मैं बताऊंगा कि अस्थमा क्या है और यदि अस्थमा का इलाज न किया जाए तो क्या नुकसान हो सकते हैं। और मैं यह भी बताऊंगा कि अस्थमा क्यों होता है। Asthma की पहचान करने के लिए इसके क्या लक्षण होते हैं और मॉडर्न मेडिसिन में इसका क्या इलाज उपलब्ध है। अस्थमा या दमा सांस लेने से संबंधित बीमारी है पूरी दुनिया में लगभग 30 करोड लोग अस्थमा से पीड़ित हैं।

Asthma Kya Hai

अस्थमा होने पर व्यक्ति की सांस की नली में सूजन आ जाती है। सूजन की वजह से सांस की नली अंदर से सकरी हो जाती है। मतलब की सांस लेने का रास्ता अंदर से छोटा हो जाता है जिस वजह से व्यक्ति को साँस लेने में तकलीफ होती है और फेफड़ों तक हवा पहुंचने में दिक्कत होती है। इसी को दमा कहते हैं या फिर अस्थमा भी कहते हैं। अगर अस्थमा का इलाज न किया जाए तो इसके घातक नुकसान हो सकते हैं

अस्थमा की जानकारी

अस्थमा के रोग को मैं हार्ट अटैक आने का खतरा ज्यादा रहता है। अस्तमा है तो सांस लेने से संबंधित बीमारी लेकिन यह हृदय को भी प्रभावित करती है। जो लोग अस्थमा से पीड़ित होते हैं उन लोगों में हार्टअटैक आने की संभावना एक स्वस्थ व्यक्ति के मुकाबले 70% अधिक होती है। इसके अलावा जब अस्थमा के मरीज को अस्थमा का अटैक आता है उस समय सांस लेने की नली की आस पास की मांसपेशियां कठोर हो जाती है और सांस की नली की अंदर की लाइन में सूजन आ जाती है। बलगम भी सामान्य से ज्यादा बनने लग जाता है। इन सभी कारणों से सांस की नली अंदर से बंद हो सकती है और व्यक्ति के लिए सांस लेना मुश्किल हो सकता है अगर अस्थमा का तुरंत इलाज ना किया जाए तो मृत्यु भी हो सकती है इसलिए अस्थमा को बीमारी को गंभीरता से लेना चाहिए और इसका इलाज करवाना चाहिए।

अस्थमा कई कारणों से हो सकता है जिसमें से पहला कारण हैं एलर्जी। एलर्जी कई चीजों से हो सकती है जैसे की धूल,मिट्टी,धुआँ। किसी जानवर से जैसे कि कुत्ते-बिल्ली या फिर परफ्यूम या फिर कोई सुगंधित पुष्प आदि से कुछ खाने की चीजों से भी एलर्जी हो सकती है और अस्थमा हो सकता है। जैसे कि अंडे,गाय का दूध,गेहूं,सोया,मूंगफली एवं मछली।

एलर्जी के कारण होने वाले अस्थमा को एलर्जी अस्थमा कहते हैं। कुछ नॉन एलर्जी कारणों से है अस्थमा हो सकता है जैसे कि बहुत अधिक सर्दी लगना। बहुत अधिक खांसी जुकाम होना और बहुत ज्यादा कफ होना या फिर बहुत तेज तेज हँसना। इस प्रकार के अस्थमा को नॉन एलर्जी अस्थमा कहते हैं। धूम्रपान करने से भी अस्थमा होने की संभावना बढ़ जाती है। धूम्रपान करने वाले व्यक्ति में अस्थमा होने के चांस ज्यादा होते हैं। इसके अलावा जिन लोगों को एसिड रिफ्लक्स की प्रॉब्लम होती है यानी कि जिसके पेट में एसिड अधिक बनता है उन लोगों को एसिड रिफ्लक्स से अस्थमा होने का खतरा अधिक होता है क्योंकि कई बार डकार आने के साथ-साथ आधा पचा हुआ खाना या एसिड श्वास नली में चला जाता है जिस वजह से सांस लेने में दिक्कत होती है।

अस्थमा होने के कारण

कुछ अंग्रेजी दवाइयों के साइड इफेक्ट से भी अस्थमा हो सकता है। इसलिए हमेशा दवाइयों को डॉक्टर से पूछ कर ही खाना चाहिए। शराब और बीयर पीने से भी अस्थमा की प्रॉब्लम हो सकती है क्योंकि शराब एवं बियर में सल्फाइड नामक पदार्थ की मात्रा अधिक होती है और जिन लोगों को सल्फाइड के प्रति एलर्जी है उन लोगों में शराब पीने के कारण अस्थमा के लक्षण दिखाई दे सकते हैं। कुछ लोगों में बहुत ज्यादा तनाव में रहने के कारण भी अस्थमा की प्रॉब्लम होती है और कुछ लोगों को बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने के कारण भी अस्थमा की प्रॉब्लम हो जाती है इसे कहते हैं exercise induced asthma

यह भी पढ़े – maleria ke lakshan 2019

अस्थमा अनुवांशिक पर पर भी हो सकता है यदि परिवार की हिस्ट्री में किसी को अस्थमा की प्रॉब्लम थी तो आने वाली अगली पीढ़ी में भी किसी को अस्थमा हो सकता है। अस्थमा रोग की पहचान करने के लिए पहले इसके लक्षणों की जानकारी होना अति आवश्यक है।

अस्थमा के लक्षण

अस्थमा के पेशेंट को बलगम वाली या फिर सूखी खांसी होती है।

सांस लेने में दिक्कत होती है जिसके कारण व्यक्ति जोर जोर से सांस लेता है और थोड़ा सा काम करने पर है सांस फूलने लगती है जिसके कारण व्यक्ति को थकावट महसूस होती है सीने में जकड़न जैसी महसूस होती है।

बोलते समय या फिर सांस लेते समय छाती में से या गले में से गरगराहट जैसी आवाज आती है।

जब व्यक्ति ठंडी हवा में सांस लेता है तो प्रॉब्लम और ज्यादा बढ़ जाती है। सुबह के समय व रात के समय प्रॉब्लम अधिक गंभीर हो जाती है।

सीने में जलन होती है और एक्सरसाइज करने पर प्रॉब्लम बढ़ जाती है।

अस्थमा की जानकारी एवं उपचार

अस्थमा का पूरी तरह से इलाज संभव नहीं है लेकिन ऐसी दवाएं मौजूद हैं जिसकी मदद से आप एक सेहतमंद और लंबी उम्र बिना किसी प्रॉब्लम के बिता सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि आपको किस चीज से अस्थमा की प्रॉब्लम होती है क्या आपको किसी चीज से एलर्जी है या फिर किसी अन्य कारण की वजह से आपको अस्थमा होता है। अगर आपको अस्थमा का कारण पता होगा तो आप इससे बचने की कोशिश कर सकते हैं।

दूसरा आपको यह पता होना चाहिए यदि आपको कभी अस्थमा का अटैक आ जाए तो उस समय आपको क्या करना चाहिए ताकि आपका जीवन बच सके। यदि आपको इन दो बातों का पता है तो आप अपने डॉक्टर की मदद के साथ अपने डॉक्टर की सहायता लेकर एक अच्छा जीवन बिना किसी प्रॉब्लम के बिता सकते हैं।

उपसंहार

दोस्तों उम्मीद है आपको मेरे द्वारा दी गयी Asthma Kya Hai की जानकारी पसंद आई होगी और काफी आसान तरीके से समझ में आ गई होगी। यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक,व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।